बिहार के इन 5 जिलों से होके गुजरेगा पटना कोलकाता एक्सप्रेसवे, बाबा धाम होकर जायेगा बंगाल

Araria News
Patna Kolkata Expressway
बिहार के इन 5 जिलों से होक गुजरेगा पटना कोलकाता एक्सप्रेसवे, बाबा धाम होकर जायेगा बंगाल

बिहार में भी अब यूपी जैसा एक्सप्रेसवे बिहार सरकार द्वारा बनावाया जाएगा। नीतीश कुमार की सरकार ने इसकी घोषणा कर दी है। यह एक्सप्रेसवे पटना से कोलकाता के बीच बनेगा। इसकी लंबाई 550 किलोमीटर होगी जिससे बिहार की राजधानी पटना और पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता का 550 किलोमीटर का सफर बेहद ही आसान हो जाएगा। दरअसल, बीते दिसंबर में जब यूपी में पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का उद्घाटन तो हुआ तो बिहार में भी इस तरह के एक्सप्रेस-वे की मांग उठने लगी। चिराग पासवन से लेकर कई विरोधी दलों के नेताओं ने यह कहा कि बिहार सरकार हमेशा केंद्र सरकार की मदद के लिए बैठी रहेगी कि खुद भी अपना सामर्थ्य दिखाएगी। इसके बाद बीच बिहार सरकार के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने पटना से कोलकाता के बीच एक्सप्रेसवे का ऐलान कर दिया।

नितिन नवीन ने घोषणा करते हुए बीते दिसंबर में कहा था कि कि बिहार में भी पूर्वांचल एक्सप्रेसवे जैसी सड़क देखने को मिलेगी। सरकार बहुत जल्द पटना-कोलकाता एक्सप्रेस वे बनाएगी। हम देहाती क्षेत्रों में मुख्य सड़क से कनेक्ट कर रहे हैं। बिहार की कनेक्टिविटी को मजबूत कर रहे हैं। नितिन नवीन ने बताया कि भारतमाला 2 के तहत पटना कोलकाता एक्सप्रेस वे के तहत सड़क बिहारशरीफ के बाद पूरी तरह से नहीं होगी। पटना से कोलकाता एक्सप्रेसवे बिहार की पहली सड़क होगी जो एज रिस्ट्रिक्टेड होगी। यह एक्सप्रेसवे पटना बख्तियारपुर होते हुए रजौली से निकलेगा। नालंदा बिहार शरीफ से इसका एलाइनमेंट अलग हो जाएगा।

Expressway announced between Patna to Kolkata
पटना से कोलकाता के बीच एक्सप्रेसवे का ऐलान

सिर्फ भारी वाहनों का परिचालन होगा

बता दें कि जिस रास्ते से यह रोड आगे बढ़ेगा उस पर अभी कोई सड़क नहीं है। नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी NHAI द्वारा 450 किमी से अधिक पटना-कोलकाता एक्सप्रेसवे बिहार और पश्चिम बंगाल के बीच प्रस्तावित 6 लेन एक्सेस-कंट्रोल्ड राजमार्ग होगा। भारतमाला परियोजना (बीएमपी) चरण 2 के तहत यह ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे पुराने भीड़भाड़ वाले राष्ट्रीय राजमार्ग NH-2 के विकल्प के रूप में काम करेगा जिस पर सिर्फ भारी वाहनों का परिचालन होगा

बिहार के ये 5 जिले शामिल

18000 करोड़ (कहीं-कहीं मीडिया रिपोर्ट में 21000 करोड़ बताई जा रही है) की अनुमानित लागत वाली इस परियोजना में बिहार के 5 जिले शामिल हैं। पटना (बख्तियारपुर), नालंदा (बिहारशरीफ), शेखपुरा, जमुई के सिकंदरा व चकाई, बांका के कटोरिया होते हुए मधुपुर, दुर्गापुर और पानागढ़ होते हुए यह रोड ढालकुनी से आगे बढ़ेगी।

एक्सप्रेसवे बिहारशरीफ, सिकंदरा, चकाई से सीधे झारखंड में देवघर जिले के देवीपुर क्षेत्र में प्रवेश करेगी। देवीपुर में यह एक्सप्रेस-वे एम्स को जोड़ने वाली प्रस्तावित फोरलेन सड़क को कनेक्ट करते हुए मधुपुर की ओर निकल जाएगी। इससे देवघर की बिहार व बंगाल से कनेक्टिविटी बढ़ेगी। इतना ही नहीं, बिहार और बंगाल से एम्स आने वाले रोगियों को भी सुविधा होगी

Share This Article