बिहार में और महंगे होंगे मकान, निर्माण सामग्री के बढे दाम, जानिए ईट, सीमेंट, गिट्टी, बालू की कीमत

Araria News
Houses will be more expensive in Bihar
बिहार में और महंगे होंगे मकान, निर्माण सामग्री के बढे दाम, जानिए ईट, सीमेंट, गिट्टी, बालू की कीमत

भवन निर्माण सामग्रियों की कीमतें फिर बढ़ गईं हैं। सीमेंट, स्टोन चिप और लोहे के साथ ही ईंट की भी कीमत बढ़ गई है। इससे मकानों की लागत में 10 प्रतिशत तक की वृद्धि का अनुमान है। जाहिर है मकान का सपना जेब पर और भारी पड़ेगा। विक्रेताओं का कहना है कि हाल के दिनों में भवन निर्माण सामग्री की कीमतों में वृद्धि हुई है। बालू को छोड़ दें तो सभी सामग्रियों के दाम बढ़ गए हैं। क्रेडाई के बिहार अध्यक्ष मणिकांत ने कहा कि जिस हिसाब से भवन निर्माण सामग्रियों की कीमतें बढ़ी हैं, उससे मकानों की लागत 10 प्रतिशत तक बढ़ जाएगी। 50 लाख रुपये के फ़्लैट अब 55 लाख रुपये में मिलेंगे। एक करोड़ रुपये के फ्लैट अब 1.10 करोड़ रुपये में मिलेंगे।

house construction in bihar
बिहार में और महंगे होंगे मकान

मकान बनाने वालों की परेशानी बढ़ी

बिल्डर एसोसिएशन आफ इंडिया के पूर्व बिहार अध्यक्ष एनके ठाकुर ने कहा कि बालू में थोड़ी राहत है, लेकिन अन्य सभी निर्माण सामग्री की कीमतें बढ़ गई हैं। कंकड़बाग के भवन निर्माण सामग्री विक्रेता सकलदेव यादव ने कहा कि महंगाई की वजह से मकान बनाने वालों की परेशानी बढ़ गई है।

some relief in the sand
बालू में थोड़ी राहत

इससे बिक्री पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। ठेकेदार गणेश कुमार ने कहा कि बालू की किल्लत के बाद हाल के दिनों में भवन निर्माण कार्य शुरू हुआ था और अब कीमतों में वृद्धि से काम पर असर पड़ रहा है। महंगई से काम मिलने में बाधा आती है।

अचानक बढ़ी सरिया की कीमत

suddenly increased the price of bars
अचानक बढ़ी सरिया की कीमत

दादी जी स्टील्स प्राइवेट लिमिटेड के एमडी रमेश चंद्र गुप्त ने बताया कि कोयले और लौह अयस्क के दामों में वृद्धि के चलते एक माह में सरिया की कीमत आठ सौ रुपए प्रति क्विंटल बढ़ी है।

निर्माण सामग्री, पूर्व की खुदरा कीमत , अब

  • सीमेंट – 360, 380 रु प्रति बैग
  • सरिया – 62 रु, 70 रुपये प्रति किलो
  • स्टोन चिप्स – 8000, 8500 रु प्रति 100 सीएफटी
  • ईंट – 14,500, 15,000 रु प्रति 1500 ईंट
  • बालू – 7000, 7000 रुपये प्रति 130 सीएफटी

क्या कहते हैं भवन निर्माता

मकान बनाने को लेकर जब तैयारी की गई तो बालू नहीं मिल रहा था। लेकिन, जैसे ही बालू मिलना शुरू हुआ सीमेंट व सरिया का दाम बढ़ गया, जिससे परेशानी हो रही है। भवन का निर्माण करा रहे विनोद कुमार सिंह, मारकंडेय सिंह, प्रदुम्न तिवारी, विरेंद्र कुमार आदि ने बताया कि पिछले छह माह से मकान बनाने के बारे में सोंचा जा रहा था। लेकिन, बालू की कमी की वजह से निर्माण नहीं करा रहे थे। अब जब बालू मिलना शुरू हुआ है तो सीमेंट व सरिया के दाम बढ़ गए हैं। लेकिन, अब तो मजबूरी है। किसी तरह निर्माण कराना है।

Share This Article