बिहार के इस शहर में पूर्वी व पश्चिमी छोर पर बन रहे दो बड़े 6 लेन पुल, लोगों को होगी सुविधा

Araria News
Two big 6 lane bridges are being built at the eastern and western ends of this city of Bihar
बिहार के इस शहर में पूर्वी व पश्चिमी छोर पर बन रहे दो बड़े 6 लेन पुल, लोगों को होगी सुविधा

बिहार की राजधानी पटना में गंगा नदी के पूर्वी व पश्चिमी दोनों छोर पर अब चार बड़े पुल हो जाएंगे। इसके साथ ही एक रेल सह सड़क पुल भी है। नए बन रहे पुलों में दीघा जेपी सेतु के समानंतर 6 लेन पुल प्रस्तावित है। इसी तरह कच्ची दरगाह से बिदुपुर के बीच लगभग 10 किमी लंबा पुल बन रहा है। वहीं, शेरपुर और दिघवारा के बीच भी पुल बन रहा है।

पटना को उत्तर बिहार से जोड़ने के लिए पहले से महात्मा गांधी सेतु और जेपी रेल सह सड़क सेतु पहले से मौजूद है। आपको बता दें कि पूर्वी छोर पर 6 लेन की कच्ची दरगाह-बिदुपुर सेतु है, जो महात्मा गांधी सेतु से भी 13 किमी पूर्व में है। इसकी लंबाई 9.76 किमी होगी। वहीं, पश्चिमी छोर पर बन रहे शेरपुर-दिघवारा सिक्स लेन ब्रिज की लंबाई 11 किमी है।

bidupur dargah bridge
दीघा जेपी सेतु के समानंतर 6 लेन पुल प्रस्तावित

बिहार के विकास का रास्ता होगा प्रशस्त

कच्ची दरगाह-बिदुपुर सेतु के निर्माण का लक्ष्य 2024 तक है। बता दें कि इसका शिलान्यास अगस्त, 2015 और कार्य की शुरुआत फरवरी, 2016 में की गई। लगभग 10 किमी इस लंबे पुल का पटना सिरा एनएच-30 पर सबलपुर में तो वैशाली जिले से जुड़ने वाला सिरा एनएच-103 पर सरमस्तीपुर में गिर रहा है।

The target of construction of Kachi Dargah-Bidupur bridge is 2024
कच्ची दरगाह-बिदुपुर सेतु के निर्माण का लक्ष्य 2024

पटना की तरफ कच्ची दरगाह से नवनिर्मित पटना-बख्तियारपुर (एनएच-30) हाईवे तक एप्रोच रोड बनेगा। इससे उत्तर और दक्षिण बिहार के विकास का रास्ता प्रशस्त होगा। गांधी सेतु का यह सबसे बढ़िया विकल्प होगा। बता दें कि गंगा में कच्ची दरगाह-बिदुपुर ब्रिज में कुल 87 पिलर हैं।

आसानी से होगा आवागमन

गौरतलब है कि उत्तर दिशा में सड़क की लंबाई 8 किलोमीटर से अधिक है। कुल संपर्क पथ की लंबाई 13 किलोमीटर है। यह पुल महात्मा गांधी सेतु से लगभग 10 किलोमीटर पूरब गंगा नदी पर कच्ची दरगाह और बिदुपुर के बीच बन रहा है।

kachchi dargah bidupur bridge
कच्ची दरगाह-बिदुपुर सिक्सलेन पुल

पुल की प्रमुख विशेषताओं में 8 रैंप शामिल हैं, जो विभिन्न जगहों पर बनाए जाएंगे। इस रूट में मेजर जंक्शन 6, फ्लाई ओवर 2 भी बनेंगे। इससे पुल पर निर्बाध आवागमन आसानी से जारी रखा जा सकेगा।

पटना जिले के सबलपुर के निकट एनएच 30 से होते हुए गंगा नदी पार कर राघोपुर दियारा अंचल के 7 राजस्व गांवों रुस्तमपुर, जहांगीरपुर, सैफाबाद, कर्मोपुर, हेमतपुर, जफराबाद आदि से होकर गुजर रही है। दियारा क्षेत्र में डायवर्सन के माध्यम से रोड नीचे उतारे जा रहे हैं, ताकि दियारे के लोग सभी मौसम में बिना रुकावट के कही भी आ-जा सकें।

शेरपुर-दिघवारा सिक्स लेन ब्रिज

पटना रिंग रोड के तहत शेरपुर-दिघवारा सिक्स लेन ब्रिज के लिए जमीन अधिग्रहण की कार्रवाई जारी है। रिंग रोड के पैकेज-2 के तहत 24 किमी लंबे (कन्हौली-शेरपुर-दिखवारा खंड) हिस्से पर शेरपुर-दिघवारा सिक्स लेन ब्रिज की लंबाई 11 किमी है। इस ब्रिज के बनने से सारण प्रमंडल के तीनों जिलों सारण, सीवान और गोपालगंज के लोगों को सीधा फायदा होगा।

इस पुल के बन जाने से इन तीनों जिलों के लोगों का सीधा कनेक्शन निर्माणाधीन बिहटा एयरपोर्ट से हो जाएगा। इन जिलों के लोगों को पटना आने के लिए शीतलपुर, सोनपुर या हाजीपुर की तरफ आने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

यातायात व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए रिंग रोड

patna ring road
यातायात व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए रिंग रोड

साथ ही छपरा शहर से बिहटा एयरपोर्ट की दूरी 30-40 किलोमीटर तक कम हो जाएगी। गौरतलब है कि पटना, सारण और वैशाली जिले की यातायात व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए 138 किलोमीटर लंबी पटना रिंग रोड भी बन रहा है।

यहां यह भी बता दें कि पटना को उत्तर बिहार से जोड़ने वाले इन पुलों की कुल लंबाई 41 किमी होगी और कुल 28 लेन हो जाएंगे। वहीं, दीघा पहलेजा रेल लाइन का दोहरीकरण का कार्य पूरा हो चुका है और जल्दी ही सीआरएस निरीक्षण के बाद इसपर भी परिचालन शुरू कर दिया जाएगा। फिलहाल सिंगल लाइन होने के कारण एक ही ट्रैक से ट्रेन का आना-जाना होता है।

Share This Article