5 Trains Operated Simultaneously On The Rail Bridge Built In Rohtas

बिहार में बने रेल ब्रिज पर एक साथ 5 ट्रेनों का हुआ परिचालन, भारतीय रेलवे ने शेयर किया वीडियो

भारतीय रेल ने ऐतिहासिक कीर्तिमान बनाया है। सोन नदी पर बने पुल पर एक साथ 5 ट्रेनों का सफल परिचालन किया गया। यह अपने आप एक रिकॉर्ड है। आपको बता दें कि इस पुल की क्षमता एक साथ 6 ट्रेनों का भार सहन करने की है। खबर रोहतास जिला से है। रेलवे ने विकास और तकनीक की नई रेखा खींच दी है।

केंद्र सरकार की महत्वकांक्षी ‘ईस्टर्न डेडीकेटेड फ्रंट कोरिडोर’ का निर्माण कार्य लगभग पूरा हो चुका है। डेहरी में सोन नदी पर बने रेल पुल पर एक साथ 5 ट्रेनों का परिचालन कर बड़ी सफलता हासिल की है। साहनेवाल से लेकर पश्चिम बंगाल के दनकुनी तक डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर का निर्माण हुआ है। इसके तहत वेस्टर्न कॉरिडोर में 1504 किलोमीटर तथा स्टैंड कॉरिडोर में 1856 किलोमीटर की दूरी शामिल है।

Successful operation of 5 trains simultaneously on the bridge over Son river
सोन नदी पर बने पुल पर एक साथ 5 ट्रेनों का सफल परिचालन

सोन नदी पर बने पुल से एक साथ 5 ट्रेनों का परिचालन

पंजाब, यूपी, हरियाणा, बिहार तथा झारखंड से होकर यह कॉरिडोर गुजर रही है। बिहार के डेहरी में सोन नदी पर बने पुल से होकर एक साथ 5 ट्रेनों का परिचालन हुआ। आपको बता दें कि एक साथ 6 ट्रेनों का सोन ब्रिज से गुजरने की व्यवस्था की गई है। इसका सफल ट्रायल भी कर लिया गया है।

Arrangement has been made for 6 trains to pass through Son Bridge simultaneously.
एक साथ 6 ट्रेनों का सोन ब्रिज से गुजरने की व्यवस्था की गई है

गया-पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेलखंड पर यह सम्भव हो सका है। जानकारी के लिए बता दें कि ईस्टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कॉरपोरेशन इंडिया लिमिटेड द्वारा इसका निर्माण कराया गया है। तमाम तकनीकी बाधा दूर करते हुए जब एक साथ 5 ट्रेनों का परिचालन हुआ, तो सभी देखते रह गए। यह रेलवे की तकनीकी दक्षता को भी दर्शाता है।

6 ट्रेनों के एक साथ गुजरने की क्षमता

ईस्टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कॉरपोरेशन इंडिया लिमिटेड द्वारा इसका निर्माण कराया गया है। इससे कई राज्यों के बीच मालवाहक सेवा सुगम हो जाएगी। पंजाब से लेकर पश्चिम बंगाल तक के विभिन्न स्थानों से होकर यह कॉरिडोर गुजर रही है, ऐसे में एक राज्य से दूसरे राज्य तक सामान की आवाजाही में काफी सहूलियत होने की संभावना है।

6 trains can pass at a time through this bridge built on the Son river located between Rohtas and Aurangabad district.
रोहतास तथा औरंगाबाद जिला के बीच स्थित सोन नदी पर बने इस पुल से एक समय में एक साथ 6 ट्रेनें गुजर सकती हैं

इसके जरिये कच्चा माल भी समय के साथ गंतव्य तक पहुंच सकेगा। खासकर औद्योगिक विकास की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण कदम है। रोहतास तथा औरंगाबाद जिला के बीच स्थित सोन नदी पर बने इस पुल से एक समय में एक साथ 6 ट्रेनें गुजर सकती हैं।

रेलवे ने किया 5 ट्रेनों का ट्रायल

रेलवे ने मंगलवार को इस परिचालन का ट्रायल किया। इस दौरान एक तरफ से 3 ट्रेन तथा दूसरी तरफ से 2 ट्रेनों का एक साथ पुल पर परिचालन कर यह कीर्तिमान बनाया गया है। यह बिहार के विकास की एक नई तस्वीर है, जिसे रेलवे ने संभव कर दिखाया है। इस कॉरिडोर के सामान्य रूप से शुरू हो जाने से विभिन्न इलाकों का तेजी से विकास होगा। खासकर माल की ढुलाई बेहद आसान हो जाएगी।

Railways did trial of 5 trains in rohtas
रेलवे ने किया 5 ट्रेनों का ट्रायल

भारतीय रेलवे ने शेयर किया वीडियो

perfection ias ad
Promotion

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *