बिहार में 16 साल के लड़के ने कबाड़ से बनाई इलेक्ट्रिक बाइक, लोग कहते थे पागल अब करते है तारीफ

Araria News
Bhagalpur Boy Rajaram Electrical Bike Popular On Social Media
बिहार में 16 साल के लड़के ने कबाड़ से बनाई इलेक्ट्रिक बाइक, लोग कहते थे पागल अब करते है तारीफ

बिहार में भागलपुर के 16 साल के युवक ने कबाड़ से इलेक्ट्रिक बाइक बनाई है। यह दो घंटे चार्ज करने पर 50 किलोमीटर दौड़ेगी। इसे बनाने में 15 हजार की लागत आई है। करीब एक महीने की कड़ी मशक्कत के बाद बाइक सड़क पर चलने को तैयार है।

भागलपुर के राजाराम शहर से 38 किमी दूर बसे सलेमपुर सैनी गांव के रहने वाले हैं। इनके पिता अभय राम मजदूरी करते हैं। गांव के 50 किमी के दायरे में एक भी अच्छी और पक्की सड़क नहीं है।

It cost 15 thousand to make Raja Ram an electric bike
भागलपुर के 16 साल के युवक ने कबाड़ से इलेक्ट्रिक बाइक बनाई

पेट्रोल की कोई चिंता नहीं

राजा राम ने भास्कर से बातचीत के दौरान बताया कि उसने यह बाइक मजदूरों के लिए बनाई है। इससे कम पैसे में सभी मजदूरों को यह बाइक उपलब्ध हो पाएगी।

Electric bike made for laborers
मजदूरों के लिए बनाई इलेक्टिक बाइक

इसकी कीमत 15 हजार है, जिससे खरीदने में ज्यादा परेशानी नहीं होगी। पेट्रोल की भी चिंता नहीं करनी है। 2 घंटे की चार्जिंग में 50 किमी तक आसानी से चल सकती है।

सरकार से आर्थिक मदद की दरकार

राजा राम ने यह भी बताया कि बाइक में और भी ज्यादा तकनीकी सुविधा दी जा सकती है। लेकिन, उसमें और रिसर्च करने के लिए पैसे नहीं है। राजा ने बताया कि इस बाइक को चाबी के साथ-साथ फोन से भी स्टार्ट किया जा सकता है।

Raja Ram is appealing to the government for help
राजा राम सरकार से मदद की कर रहा अपील

एक ऐसा हेलमेट जो नशा को करेगा डिटेक्ट

हेलमेट बनाने की भी प्लानिंग राज राम कर रहे हैं। हेलमेट ऐसी होगी कि उसके बिना बाइक स्टार्ट ही नहीं होगी। साथ ही अगर कोई नशा करके बाइक चलाने की कोशिश करेगा तो हेलमेट नशा को डिटेक्ट करेगा और स्टार्ट ही नहीं होगी। ​​​​​​​

पहले पागल बोलते थे लोग, अब करते हैं सराहना

राजाराम ने बताया कि जब वो 8 साल के थे, तभी से इलेक्ट्रॉनिक के खराब समानों में दिलचस्पी रही है। पहले भी कभी पंखा तो कभी पानी का पंप बनाते रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब मैं ये सब काम करता था तो कुछ लोग मुझे पागल बोलते थे।

Raja Ram used to do research on electric devices since childhood
बचपन से ही इलेक्टिक डिवाइस पर रिसर्च करता था राजा राम

कहते थे कि ये क्या पागलपन है। लेकिन, अब मुझे इलेक्ट्रिक बाइक से सफलता मिली है। इसके बाद लोग मेरी तारीफ करने लगे हैं।

माता-पिता ने हमेशा किया समर्थन

राजा राम ने अपने तीन छोटे-छोटे कमरे वाले घर के एक हिस्से में प्रयोग करते रहते हैं। राजा कहते हैं कि माता-पिता ने उनकी इस आदत पर कभी गुस्सा नहीं किया। उनके किसी एक्सपेरिमेंट में वो कभी नहीं टोकते थे।

bpsc batch perfection ias
प्रमोटेड कंटेंट

Share This Article