बिहार को एक और म्यूजियम की सौगात, यहाँ बन रहा पहला शिल्प कला संग्रहालय

Araria News
first craft museum of bihar
बिहार को एक और म्यूजियम की सौगात, यहाँ बन रहा पहला शिल्प कला संग्रहालय

बिहार को एक और संग्रहालय की सौगात जल्द मिलने जा रही है। राजधानी पटना में पहला शिल्प कला म्यूजियम बन रहा है। लगभग 30 करोड़ की लागत से पटना स्थित उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान परिसर में बिहार का पहला शिल्प कला म्यूजियम बनाया जा रहा है।

Another museum gift to Bihar
बिहार को एक और संग्रहालय की सौगात

इस म्यूजियम में प्रशासनिक ब्लॉक फैसिलिटी सेंटर और शिल्प कला के लिए अलग-अलग भवन होंगे। मिली जानकारी के अनुसार, शिल्प संस्थान परिसर में बने फैसिलिटी सेंटर को जीविका से जोर नए सिरे से एक बार फिर से आरंभ किया जाएगा।

Bihar first Shilp Art Museum in Upendra Maharathi Crafts Research Institute campus
उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान परिसर में बिहार का पहला शिल्प कला म्यूजियम

म्यूजियम में शिल्प से जुड़ी हुई कलाओं का प्रचार प्रसार

इस म्यूजियम में शिल्प से जुड़ी हुई कलाओं का विस्तार से प्रचार प्रसार किया जाएगा। साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों से जुड़ी महिलाओं को सेंटर में ट्रेनिंग दी जाएगी। उन्हें शिल्प कला के गुण सिखाए जाएंगे और आत्मनिर्भर बनाया जाएगा। इसके लिए सीएफसी सेंटर में कलाकृतियों को तैयार करने के लिए आधुनिक मशीनें लगाई जा रही है।

Bihars first Shilp Art Museum
बिहार का पहला शिल्प कला म्यूजियम

आपको बता दें कि बिहार में बनने वाला पहला शिल्पकला म्यूजियम उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान में बनने जा रहा है। इसके लिए पुराने भवन की संरचना को बिना नुकसान पहुंचाए आधुनिक म्यूजियम बनाया जा रहा है।

लोगों को शिल्प कला से जोड़ना उद्देश्य

संग्रहालय परिसर में बिहार की पुरानी लोक कलाएं शिल्प कला को रखा जाएगा। इन कलाओं को प्रदर्शनी के लिए डिस्पले सेंटर भी बनाया जाएगा। प्रदेश का यह पहला म्यूजियम होगा जहां पर लोक कलाओं को प्रदर्शित करने के लिए डिस्पले सेंटर बनेगा।

Construction of Patna Ghat in Upendra Maharathi Crafts Research Institute campus
उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान परिसर में पटना घाट का निर्माण

पहला शिल्प कला म्यूजियम बनाने का उद्देश्य लोगों को शिल्प कला से जोड़ना है। उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान परिसर में पटना घाट का निर्माण भी किया गया था एक बार फिर से पटना हाट को चालू किया जाएगा। दिल्ली की तर्ज पर पटना वासियों के लिए हाट की शुरुआत की गई थी।

Objective to connect people with crafts
लोगों को शिल्प कला से जोड़ना उद्देश्य

उपेंद्र महारथी संस्थान में बने फव्वारे को एक बार फिर से चालू किया जाएगा। यह इस संस्थान की खूबसूरती को और बढ़ाएगा और लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करेगा।

Share This Article