बिहार में यहाँ मिली चार आँखों वाली ‘सकर माउथ कैटफिश’, वैज्ञानिकों ने कहा चिंता का विषय

Araria News
बिहार में यहाँ मिली चार आँखों वाली सकर माउथ कैटफिश

अमेरिका में पाई जाने वाली दुर्लभ प्रजाति की सकर माउथ कैटफिश बिहार के गोपालगंज के गंडक नदी में एक बार फिर देखने को मिली है। इस मछली के चार आंख है।

दरअसल सिधवलिया प्रखंड के डुमरिया गांव में मंगलवार को मछुआरों ने गंडक नदी में जाल लगाया था। जानकारी के लिए बता दें कि यह मछली पहले भी गोपालगंज में मिल चुकी है। अब एक बार फिर से इस मछली के मिलने से वैज्ञानिकों की चिंता और बढ़ गई है।

मछुआरों को मिली सकर माउथ कैटफिश

मछुआरों ने जब नदी से जाल को जब बाहर निकाला तो उसमें काफी संख्या में मछलियां प्राप्त हुई। इन्ही मछलियों में ‘सकर माउथ कैटफिश’ भी मिली। लोगों के लिए यह दुर्लभ मछली कौतूहल का विषय बन गई है।

Sucker mouth catfish found by fishermen
मछुआरों को मिली सकर माउथ कैटफिश

अमेरिका के अमेजन नदी में यह मछली पायी जाती है। जानकारी की माने तोह मछली को मिलते ही मछुआरे ने पकड़ लिया और इसे एक नाद में डाल दिया। मछली का वीडियो सोशल मीडिया पर भी जोरो से वायरल हो रहा है।

नदियों के लिए खतरा

इस अजीबोगरीब मछली के मिलने की सूचना पर काफी संख्या में लोगों की भीड़ जुटने लगी। जानते हैं यह मछली नदियों के लिए खतरा कैसे है। दरअसल यह मांसाहारी मछली होती है जो छोटे जलीय जीवो का भक्षण करके नदी पर्यावरण तंत्र को बिगाड़ देती है।

गोपालगंज में यह मछली गंडक नदी में पहले भी देखी जा चुकी है। सदर प्रखंड के कटघरवा पंचायत के पूर्व मुखिया राजेश सहनी ने जानकारी दी कि 4 महीने पूर्व भी सकर माउथ कैटफिश गंडक नदी में पाई गई थी।

threat to rivers
नदियों के लिए खतरा

चार आंख वाली मछली बिगाड़ सकती है संतुलन

मत्स्य विकास पदाधिकारी रोहित शर्मा का कहना है कि यह चार आंख और अजीबोगरीब बनावट की मछली परिस्थितिकी तंत्र का विनाश कर सकती है। लोग यह समझ नहीं पा रहे हैं कि हजारों किलोमीटर दूर अमेरिका के अमेजन नदी में पाई जाने वाली मछली बिहार में कैसे पहुंची।

perfection ias ad
प्रमोटेड कंटेंट

Share This Article