भागलपुर में शुरू ‘किया गया पौधा संरक्षण पाठशाला’, किसानों को होगा लाभ

Manikant Pathak
Plant Protection School started in Bhagalpur
भागलपुर में शुरू किया गया पौधा संरक्षण पाठशाला

बिहार के भागलपुर के किसानों को अब पौधों से जुड़ी सारी बातों की जानकारी पंचायत स्तर पर ही दी जाएगी। जिसके लिए जिला कृषि विभाग ने ‘पौधा संरक्षण पाठशाला’ की शुरुआत की है।

एक पाठशाला में 2 प्रशिक्षक द्वारा 25 किसानों को प्रशिक्षण दिया जाता है। जबकि पाठशाला 2 पाली में चलती है। पहली पाली सुबह 8 बजे से 12 बजे तक और दूसरी पाली दोपहर के 1 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक चलाई जाती है।

अभी गोपालपुर, नवगछिया, जगदीशपुर और भागलपुर प्रखंड की 6 पंचायत में पाठशाला चल रही है। जबकि आने वाले समय में भागलपुर जिले की सभी 80 पंचायत में पौधा संरक्षण पाठशाला चलाई जाएगी।

एक सप्ताह तक दी गई थी प्रशिक्षण

भागलपुर के पौधा संरक्षण पदाधिकारी अरबिंद कुमार, उपनिदेशक भूषण कुमार, संयुक्त निदेशक शष्य अरुण कुमार और बिहार कृषि विश्वविद्यालय के 3 वैज्ञानिक द्वारा पहले 160 लोगों को एक सप्ताह तक प्रशिक्षण दिया गया था।

जिसके बाद पंचायत स्तर पर पाठशाला की शुरुआत 2 जनवरी से गोपालपुर के अभिया, पचगछिया और सैदपुर पंचायत में हुई। इस दौरान किसानों को रबी मौसम में बुआई होने वाले फसलों के बारे जानकारी के देने के साथ बीज की बुआई करने से पहले बीज को सही तरीके से जांचने की जानकारी दी गई।

District Agriculture Department has started Plant Protection School
जिला कृषि विभाग ने पौधा संरक्षण पाठशाला की शुरुआत की है

मार्केटिंग करने के बारे में भी थी गई जानकारी 

साथ ही जानकारी दी गई कि फसल में जरूरत के हिसाब से ही खाद का उपयोग किया जाना चाहिए। पाठशाला में रबी मौसम में फसलों में लगने वाली बीमारी से बचाव, दवाई और फसलों को समय पर तैयार करके स्टॉक करने के साथ मार्केटिंग करने के बारे में जानकारी दी जा रही है।

मिल रही है कई जानकारी 

पौधा संरक्षण पदाधिकारी अरबिंद कुमार ने कहा कि किसानों को फसल बुआई से लेकर फसल तैयार करने तक सही जानकारी हो, इसलिए पंचायत स्तर पर पौधा संरक्षण पाठशाला चलाई जा रही है।

एक प्रखंड में 5 पंचायत में चलाई जाएंगी। टोटल 80 पंचायत में चलेंगी। जिसके लिए 160 प्रशिक्षक को प्रशिक्षण दिया गया है। उन्होंने कहा कि अभी 6 पंचायत में पाठशाला चल रही है। शुक्रवार से सोमवार तक 80 पंचायत में पाठशाला शुरू कर दी जाएगी, जिसमें दो हजार किसान शामिल होंगे। पाठशाला को लेकर तैयारी पूरी कर ली गई हैं।

new batch for bpsc 68th mains
प्रमोटेड कंटेंट

Share This Article