btech chaiwala shop in darbhanga

बिहार के इस जूनियर इंजिनियर ने नौकरी को बोला टाटा बाय-बाय, फिर बेचने लगा चाय, जाने वजह

इन दिनों बड़ी-बड़ी डिग्रियां लेकर सड़क किनारे चाय, पकोड़े और फास्ट फूड की दुकानें खोलने का एक नया ट्रेंड चल पड़ा है। ऐसे में लोग अपनी पढ़ाई के बाद नौकरी ना मिलने का हवाला देते हैं, लेकिन वहीं दूसरी तरफ दरभंगा के अनुराग ने अच्छी तनख्वाह छोड़कर अपने उज्जवल भविष्य के लिए चाय की दुकान खोली है। जबकि उसके पिता धर्मनारायण साहू डॉक्टर हैं, जो कि मधुबनी में बतौर डीएमएस कार्यरत हैं।

सिविल इंजीनियर अनुराग रंजन का कहना है कि नौकरी करके सिर्फ हम अपनी जरूरतों को पूरा कर सकते हैं, लेकिन बड़ा आदमी बनना है तो कोई बड़ा बिजनेस करना होगा। उसी बड़े बिजनेस की ओर कदम बढ़ाते हुए छोटे बिजनेस से शुरुआत की है। अनुराग चंडीगढ़ में शिव शक्ति प्राइवेट लिमिटेड में बतौर जूनियर इंजीनियर का कर रहे थे और उनको अच्‍छी खासी सैलरी भी मिल रही थी।

Anurag of Darbhanga left a good salary and opened a tea shop for his bright future
दरभंगा के अनुराग ने अच्छी तनख्वाह छोड़कर अपने उज्जवल भविष्य के लिए चाय की दुकान खोली

चाय के साथ स्टूडेंट्स करते हैं पढ़ाई की बात

बीटेक चाय शॉप पर चाय पीने आए छात्र ने बताया कि यह चाय की दुकान हम लोगों के लिए काफी फायदेमंद है। बेहतरीन चाय कम दामों में मिल जाती है और इनसे (अनुराग) चाय के साथ पढ़ाई की भी बातें हो जाती हैं।

Crowd of students at Anurags tea shop
अनुराग के चाय शॉप पर लगी स्टूडेंट्स की भीड़

दी जाती है खास कप में चाय

अनुराग बताते हैं कि हमारे यहां 25 तरह की चाय दी जाती है, जिसमें से एक खास चाय है। इस चाय को एक खास कप में ग्राहकों को दिया जाता है, जिसे चाय पीने के बाद खा सकते हैं। ऐसे कप दिल्ली, मुंबई या फिर कोलकाता से मंगवाए जाते हैं।

B.Tech Chaiwala Anurag
B.Tech चायवाला अनुराग
Credits: NEWS18
new upsc batch by perfection ias
प्रमोटेड कंटेंट

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *